PM मोदी के नक्शेकदम पर राहुल पहुंचे बहरीन, क्रेडिबिलिटी, कॉनविक्शन, कॉम्पिटेन्स नही

भाजपा प्रवक्ता नरसिम्हा राव बोले राहुल गांधी के पास क्रेडिबिलिटी, कॉनविक्शन और कॉम्पिटेन्स में से कुछ नहीं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खाड़ी देश बहरीन के एकदिवसीय दौरे पर हैं। अध्यक्ष पद संभालने के बाद राहुल का यह पहला विदेशी दौरा है. इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता जेवीएल नरसिम्हा राव ने राहुल पर हमला किया है। आज  सुबह राव ने ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल कर रहे हैं। पहले उन्होंने कॉलेज जाना शुरू किया, उसके बाद मंदिर और अब एनआरआई से वार्तालाप कर रहे हैं।

राव यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे लिखा कि प्रशंसा का सबसे अच्छा रूप है, लेकिन यह सफलता नहीं देता है।  लोग अक्सर नकल का आनंद लेते हैं लेकिन वास्तविक चीज़ के लिए सीटी बजाते है, वोट देते हैं। बेचारा राहुल गांधी! राव बोले कि राजनीति में लोग तीन ‘सी’ की तलाश में रहते हैं. क्रेडिबिलिटी, कॉनविक्शन और कॉम्पिटेन्स. इन तीन में से कोई भी राहुल के पास नहीं है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी गुजरात चुनाव के दौरान जीवीएल नरसिम्हा राव ने ट्वीट कर राहुल पर ऐसी ही भाषा का प्रयोग किया था। जीवीएल ने ट्वीट किया था कि, ”अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने के लिए राहुल गांधी ने ओवैसिस, जिलानिस से हाथ मिला लिया है। राहुल गांधी निश्चित रूप से एक “बाबर भक्त” और “खिलजी के रिश्तेदार” हैंI बाबर ने राम मंदिर को नष्ट कर दिया और खिलजी ने सोमनाथ को लूट लिया। नेहरू वंश दोनों इस्लामी आक्रमणकारियों के पक्ष में। ”

आपको बता दें कि राहुल आज सोमवार को यहां मनामा में 50 देशों से भारतीय मूल के बिजनेस लीडरों से मुलाकात और भारत की अर्थव्यवस्था व आर्थिक मंदी पर चर्चा करेंगे। राहुल का बहरीन दौरा सिर्फ खाड़ी देशों में रह रहे NRI से मुलाकात ही नहीं है, बल्कि इसके सियासी मायने भी हैं। राहुल ने जिस प्रकार अपनी अमेरिका दौरे के जरिए गुजरात की सियासी बिसात बिछाई थी. राहुल ने उसी तर्ज पर बहरीन पहुंचे हैं, जिसे कर्नाटक कनेक्शन के तौर पर देखा जा रहा ह

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *