धार्मिक आजादी पर अमेरिका ने पाकिस्तान को निगरानी सूची में डाला

वाशिंगटन। अमेरिका ने धार्मिक आजादी के गंभीर उल्लंघन मामले में पाकिस्तान को विशेष निगरानी सूची में डाल दिया है। विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने विभिन्न मामलों में अमेरिकी चिंता वाले 10 देशों की सूची जारी की।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हीदर नॉर्ट ने कहा कि धार्मिक आजादी के गंभीर उल्लंघन को देखते हुए पाकिस्तान को विशेष निगरानी सूची में डाला गया है।

वैसे आतंकियों को पनाह दे रहे पाकिस्तान को लेकर अमेरिका कुछ और कड़े फैसले कर सकता है। फ्रैंक आर वुल्फ अंतरराष्ट्रीय धार्मिक आजादी अधिनियम, 2016 के तहत अमेरिका ने विशेष निगरानी सूची की नई श्रेणी बनाई है।

इस श्रेणी में शामिल होने वाला पाकिस्तान अकेला देश है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पाकिस्तान को लेकर कड़े रुख को देखते हुए प्रशासन अब कड़े फैसले लेने की दिशा में सक्रिय हो गया है।

यह जानकारी अमेरिकी राष्ट्रपति के व्हाइट हाउस कार्यालय की प्रवक्ता सारा सैंडर्स दी है। सैंडर्स पाकिस्तान को ट्रंप द्वारा झूठा और धोखेबाज देश कहे जाने के नतीजे के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब दे रही थीं।

प्रवक्ता ने कहा, आतंकवाद को रोकने के लिए पाकिस्तान ज्यादा प्रयास करे, यह हमारी अपेक्षा है। इसी के तहत उसे आतंकियों की सुरक्षित पनाहगाहों को खत्म करना होगा और उनके खिलाफ सख्त कदम उठाने होंगे।

फिलहाल इस बाबत पाकिस्तान की ओर से कोई संकेत नहीं मिले हैं। इसलिए पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाने के लिए ट्रंप प्रशासन चंद रोज में ही कुछ कड़े फैसलों की घोषणा कर सकता है।

यह घोषणा 24 से 48 घंटे के भीतर हो सकती है। फैसलों का विवरण न देते हुए प्रवक्ता ने इसे सिर्फ खास बताया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *